Posts Tagged ‘puri’

8 Wonders of Jagannatha Temple of Puri

पुरी में जगन्नाथ मंदिर के 8 अजूबे इस प्रकार है।
.
1.
मन्दिर के ऊपर झंडा हमेशा हवा के विपरीत  दिशा में लहराते हुए।
.
2.
पुरी में किसी भी जगह से आप मन्दिर के ऊपर लगे सुदर्शन चक्र को देखेगे तो वह आपको सामने ही लगा दिखेगा।
.
3.
सामान्य दिन के समय हवा समुद्र से जमीन की तरफ आती है, और शाम के दौरान इसके विपरीत, लेकिन पूरी में इसका उल्टा होता है.
.
4.
पक्षी या विमानों मंदिर के ऊपर उड़ते हुए  नहीं पायेगें।
.
5.
मुख्य गुंबद की छाया दिन के किसी भी समय  अदृश्य है.
.
6.
मंदिर के अंदर पकाने के लिए भोजन की मात्रा पूरे वर्ष के लिए रहती है। प्रसाद की एक भी मात्रा कभी भी यह व्यर्थ नहीं जाएगी, चाहे कुछ हजार लोगों से 20 लाख लोगों को खिला सकते हैं.
.
7.
मंदिर में रसोई (प्रसाद)पकाने के लिए 7 बर्तन  एक दूसरे पर रखा जाता है और लकड़ी पर पकाया जाता है. इस प्रक्रिया में शीर्ष बर्तन में सामग्री पहले पकती है फिर क्रमश: नीचे की तरफ एक के बाद एक पकते जाती है।
.
8.
मन्दिर के सिंहद्वार में पहला कदम प्रवेश करने पर  (मंदिर के अंदर से) आप सागर द्वारा निर्मित  किसी भी ध्वनि नहीं सुन सकते. आप (मंदिर के बाहर
से) एक ही कदम को पार करें जब आप इसे सुन सकते  हैं. इसे शाम को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है।

साथ में यह भी जाने:-
मन्दिर का रसोई घर दुनिया का सबसे बड़ा रसोइ घर है।
.
प्रति दिन सांयकाल मन्दिर के ऊपर लगी ध्वजा को मानव द्वारा उल्टा चढ़ कर
बदला जाता है।
.
मन्दिर का क्षेत्रफल चार लाख वर्ग फिट में है। मन्दिर की ऊंचाई 214 फिट है।

 

विशाल रसोई घर में भगवान जगन्नाथ को चढ़ाने वाले महाप्रसाद को बनाने 500 रसोईये एवं 300 उनके  सहयोगी काम करते है।

Be the first to comment - What do you think?  Posted by admin - December 6, 2013 at 3:30 pm

Categories: Articles   Tags: , , ,

© 2010 Complete Hindu Gods and Godesses Chalisa, Mantras, Stotras Collection