Rituals of Chautha & Tehravin – रसम पगड़ी – Rasam Pagri Ad Sampes of Newspaper

 

शोक संदेश या श्रद्धांजलि मैसेज का नमूना (Condolence message in hindi)
मित्र के माता-पिता के निधन पर शोक सन्देश
आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश
दोस्त के पति-पत्नी के मृत्यु पर शोक सन्देश
श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए

मित्र के माता के निधन पर शोक सन्देश (Condolence message for friend’s mother death)
नमूना #1

भाई राज,

मेरी भगवान से यही प्रार्थना हैं कि आंटी जी की आत्मा को शांति और पूरे परिवार को यह दुःख सहन करने की शक्ति मिले।

मैं इस असहनीय दुःख की घड़ी में तुम्हारे साथ हूँ। अगर तुम्हें मेरी किसी भी मदद की आवश्यकता हो तो बिना किसी संकोच के मुझे बताना।

आंतरिक शोक के साथ,

condolence message in hindi

नमूना #2

आपकी माता जी कि मृत्यु का समाचार सुन कर बेहद दुःख हुआ। उनकी मृत्यु असहनीय है और उनकी कमी कोई भी पूरी नहीं कर सकता।

लेकिन भगवान की मर्ज़ी के बिना कुछ भी संभव नहीं है और भगवान को यही मंज़ूर था। लेकिन, आप अपने आपको अकेला न समझें। मैं आपके साथ हूँ और जल्द ही आपसे मिलने आ रहा हूँ।

इस मुश्किल की घड़ी में हिम्मत रखें। मेरी संवेदनाएं आपके और आपके परिवार के साथ हैं। ॐ शांति।

नमूना #3

आपके पिता की मृत्यु की दुखद खबर को अभी तक मैं अपने दिल से निकाल नहीं पा रहा हूँ। आपको हुए इस नुकसान के लिए मुझे खेद है।

आपके पिता जी को कभी भुलाया नहीं जा सकता। वो हमसे अलग नहीं हुए हैं बल्कि हमारे दिल और दिमाग में हमेशा जिंदा रहेंगे। इस कष्टकारी समय में ईश्वर आपको इस गम से लड़ने की ताकत और हौसला दे।

ईश्वर की कृपा आपके परिवार पर बनी रहे और आपके पिता जी की आत्मा को शांति प्राप्त हो।

आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश (Condolence message on accidental death)
नमूना #1

राहुल जी,

आपके बड़े भाई की अकस्मात हुई मृत्यु के बारे में सुन कर बहुत दुःख हुआ।
उनकी उम्र अभी इस दुनिया से जाने की नहीं थी, लेकिन मृत्यु पर किसी का वश नहीं चला हैं।

विपत्ति के इस समय में मेरी सहानुभूति आपके साथ है। भगवान आपको इन्हे सहन करने की शक्ति दे।

शोकाकुल,
अविनाश त्रिपाठी,

shradhanjali images

नमूना #2

आपके मित्र के निधन के बारे में सुन कर गहरा दुःख हुआ। उनका स्थान जीवन में और कोई नहीं ले सकता। लेकिन, मृत्यु ही इस जीवन का सबसे बड़ा सत्य है।

इसे बदला नहीं जा सकता। इस दुःख के समय में आप अकेले नहीं हैं। हम सब आपके साथ हैं। मैं ईश्वर से यही प्रार्थना करता हूँ कि दिवंगत आत्मा को शांति और मोक्ष मिले। आपको इस कष्ट को सहने का बल मिले।

सहेली के पति के मृत्यु पर शोक सन्देश (Condolence message for friend husband death)
नमूना #1

प्रिय आंचल,

तुम्हारे पति की अचानक मृत्यु की खबर सुन कर मैं अचंभित हूँ। वो बेहद भद्र और हंसमुख पुरुष थे। उनके अच्छे स्वभाव के कारण उन्हें हर कोई पसंद करता था।

जो बीत चुका है, उसे वापस नहीं लाया जा सकता। तुम्हारे जीवन में तुम्हारे पति की कमी कोई पूरी नहीं कर सकता। किंतु प्रिय सखी, अब बच्चे तुम पर आश्रित हैं और उनका ख्याल अब तुम्हें ही रखना है।

मेरी हार्दिक सहानुभूति तुम्हारे साथ है। भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

आंतरिक शोक के साथ,

तुम्हारी सहेली,
रजनी सिंह

नमूना #2

शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना। एक बेहतरीन व्यक्ति के चले जाने से दुखी हूँ।

भगवान उनकी आत्मा को शांति दे!

श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए (Condolence message for Indian army)
नमूना #1

मौसम बदले, दुश्मन भी बदले,
लेकिन हमारे जावानों की जिम्मेदारियां कभी नहीं बदली।

शत शत नमन।

condolence message in hindi for indian army

नमूना #2

जिक्र अगर हीरो का होगा, तो नाम भारत के वीरों का होगा।

Shradhanjali message for indian army

निधन पर शोक और श्रद्धांजलि प्रकट करने के लिए मैसेज का नमूना (Condolence RIP message sample images)

बेहतरीन शोक संदेश और गहरे श्रद्धांजलि मैसेज (Shradhanjali message) का उदाहरण – कुछ चीज़ें मनुष्य के हाथ में नहीं होती, उन्ही में से एक है किसी की मृत्यु। किसी क़रीबी के निधन का दुःख असहनीय होता है। ऐसे में आप अपनी सहानुभूति प्रकट करते हुये ‘शोक सन्देश’ भेज कर उनके दुःख को कुछ हद तक कम कर सकते हैं जिन्होंने अपने किसी खास को खोया है।

अच्छे कार्य करने वालो के निधन पर लोगों के समूहों द्वारा यथोचित श्रद्धांजलि भी दिया जाता है और उनके परिवार के सदस्यों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की जाती है।

इससे आप उन्हें यह अहसास भी दिला सकते हैं कि इस कष्ट के लम्हों में आप उनके साथ हैं। टेक्नोलॉजी की दुनिया में, कोई संदेश देने या लेने के लिये WhatsApp/SMS बहुत लोकप्रिय हो चुके है क्योंकि यह संचार का सबसे अच्छा साधन है। निचे यहाँ पर कुछ व्हाट्सऐप शोक संदेश (RIP message) शब्द और फोटो सहित दिया गया है।

किसी के निधन पर शोक कैसे व्यक्त करना है और उन्हें शोक या श्रद्धांजलि संदेश लिखते हुए आपको किन-किन चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए, जानिए:

निधन पर शोक संदेश कैसे लिखना चाहिए?
जिस भी व्यक्ति को आप यह शोक संदेश भेज रहे हों, उन्हें सामान्य रूप से सम्बोधित करें जैसे अगर वो बड़े हैं तो उन्हें श्री मान जी और छोटे हैं तो डिअर या प्रिय आदि लिखें।
आपको उस व्यक्ति के निधन का कितना दुःख हुआ है इस बात को शब्दों का रूप देने की कोशिश करें साथ ही उन्हें बताएं कि यह खबर आपको कहा से मिली।
अगर जिनका निधन हुआ है वो आपके क़रीबी है तो आप उनके साथ बिताये समय और यादों का जिक्र इस संदेश में कर सकतें है।
जिसे आप मैसेज भेज रहे हैं, उनको यह अहसास दिलाएं कि इस स्थिति में आप उनके साथ हैं साथ ही मदद का प्रस्ताव भी दे।

शोक संदेश या श्रद्धांजलि मैसेज का नमूना (Condolence message in hindi)
मित्र के माता-पिता के निधन पर शोक सन्देश
आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश
दोस्त के पति-पत्नी के मृत्यु पर शोक सन्देश
श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए

मित्र के माता के निधन पर शोक सन्देश (Condolence message for friend’s mother death)
नमूना #1

भाई राज,

मेरी भगवान से यही प्रार्थना हैं कि आंटी जी की आत्मा को शांति और पूरे परिवार को यह दुःख सहन करने की शक्ति मिले।

मैं इस असहनीय दुःख की घड़ी में तुम्हारे साथ हूँ। अगर तुम्हें मेरी किसी भी मदद की आवश्यकता हो तो बिना किसी संकोच के मुझे बताना।

आंतरिक शोक के साथ,

condolence message in hindi

नमूना #2

आपकी माता जी कि मृत्यु का समाचार सुन कर बेहद दुःख हुआ। उनकी मृत्यु असहनीय है और उनकी कमी कोई भी पूरी नहीं कर सकता।

लेकिन भगवान की मर्ज़ी के बिना कुछ भी संभव नहीं है और भगवान को यही मंज़ूर था। लेकिन, आप अपने आपको अकेला न समझें। मैं आपके साथ हूँ और जल्द ही आपसे मिलने आ रहा हूँ।

इस मुश्किल की घड़ी में हिम्मत रखें। मेरी संवेदनाएं आपके और आपके परिवार के साथ हैं। ॐ शांति।

नमूना #3

आपके पिता की मृत्यु की दुखद खबर को अभी तक मैं अपने दिल से निकाल नहीं पा रहा हूँ। आपको हुए इस नुकसान के लिए मुझे खेद है।

आपके पिता जी को कभी भुलाया नहीं जा सकता। वो हमसे अलग नहीं हुए हैं बल्कि हमारे दिल और दिमाग में हमेशा जिंदा रहेंगे। इस कष्टकारी समय में ईश्वर आपको इस गम से लड़ने की ताकत और हौसला दे।

ईश्वर की कृपा आपके परिवार पर बनी रहे और आपके पिता जी की आत्मा को शांति प्राप्त हो।

आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश (Condolence message on accidental death)
नमूना #1

राहुल जी,

आपके बड़े भाई की अकस्मात हुई मृत्यु के बारे में सुन कर बहुत दुःख हुआ।
उनकी उम्र अभी इस दुनिया से जाने की नहीं थी, लेकिन मृत्यु पर किसी का वश नहीं चला हैं।

विपत्ति के इस समय में मेरी सहानुभूति आपके साथ है। भगवान आपको इन्हे सहन करने की शक्ति दे।

शोकाकुल,
अविनाश त्रिपाठी,

shradhanjali images

नमूना #2

आपके मित्र के निधन के बारे में सुन कर गहरा दुःख हुआ। उनका स्थान जीवन में और कोई नहीं ले सकता। लेकिन, मृत्यु ही इस जीवन का सबसे बड़ा सत्य है।

इसे बदला नहीं जा सकता। इस दुःख के समय में आप अकेले नहीं हैं। हम सब आपके साथ हैं। मैं ईश्वर से यही प्रार्थना करता हूँ कि दिवंगत आत्मा को शांति और मोक्ष मिले। आपको इस कष्ट को सहने का बल मिले।

सहेली के पति के मृत्यु पर शोक सन्देश (Condolence message for friend husband death)
नमूना #1

प्रिय आंचल,

तुम्हारे पति की अचानक मृत्यु की खबर सुन कर मैं अचंभित हूँ। वो बेहद भद्र और हंसमुख पुरुष थे। उनके अच्छे स्वभाव के कारण उन्हें हर कोई पसंद करता था।

जो बीत चुका है, उसे वापस नहीं लाया जा सकता। तुम्हारे जीवन में तुम्हारे पति की कमी कोई पूरी नहीं कर सकता। किंतु प्रिय सखी, अब बच्चे तुम पर आश्रित हैं और उनका ख्याल अब तुम्हें ही रखना है।

मेरी हार्दिक सहानुभूति तुम्हारे साथ है। भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

आंतरिक शोक के साथ,

तुम्हारी सहेली,
रजनी सिंह

नमूना #2

शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना। एक बेहतरीन व्यक्ति के चले जाने से दुखी हूँ।

भगवान उनकी आत्मा को शांति दे!

श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए (Condolence message for Indian army)
नमूना #1

मौसम बदले, दुश्मन भी बदले,
लेकिन हमारे जावानों की जिम्मेदारियां कभी नहीं बदली।

शत शत नमन।

condolence message in hindi for indian army

नमूना #2

जिक्र अगर हीरो का होगा, तो नाम भारत के वीरों का होगा।

Shradhanjali message for indian army

निधन पर शोक और श्रद्धांजलि प्रकट करने के लिए मैसेज का नमूना (Condolence RIP message sample images)

बेहतरीन शोक संदेश और गहरे श्रद्धांजलि मैसेज (Shradhanjali message) का उदाहरण – कुछ चीज़ें मनुष्य के हाथ में नहीं होती, उन्ही में से एक है किसी की मृत्यु। किसी क़रीबी के निधन का दुःख असहनीय होता है। ऐसे में आप अपनी सहानुभूति प्रकट करते हुये ‘शोक सन्देश’ भेज कर उनके दुःख को कुछ हद तक कम कर सकते हैं जिन्होंने अपने किसी खास को खोया है।

अच्छे कार्य करने वालो के निधन पर लोगों के समूहों द्वारा यथोचित श्रद्धांजलि भी दिया जाता है और उनके परिवार के सदस्यों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की जाती है।

इससे आप उन्हें यह अहसास भी दिला सकते हैं कि इस कष्ट के लम्हों में आप उनके साथ हैं। टेक्नोलॉजी की दुनिया में, कोई संदेश देने या लेने के लिये WhatsApp/SMS बहुत लोकप्रिय हो चुके है क्योंकि यह संचार का सबसे अच्छा साधन है। निचे यहाँ पर कुछ व्हाट्सऐप शोक संदेश (RIP message) शब्द और फोटो सहित दिया गया है।

किसी के निधन पर शोक कैसे व्यक्त करना है और उन्हें शोक या श्रद्धांजलि संदेश लिखते हुए आपको किन-किन चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए, जानिए:

निधन पर शोक संदेश कैसे लिखना चाहिए?
जिस भी व्यक्ति को आप यह शोक संदेश भेज रहे हों, उन्हें सामान्य रूप से सम्बोधित करें जैसे अगर वो बड़े हैं तो उन्हें श्री मान जी और छोटे हैं तो डिअर या प्रिय आदि लिखें।
आपको उस व्यक्ति के निधन का कितना दुःख हुआ है इस बात को शब्दों का रूप देने की कोशिश करें साथ ही उन्हें बताएं कि यह खबर आपको कहा से मिली।
अगर जिनका निधन हुआ है वो आपके क़रीबी है तो आप उनके साथ बिताये समय और यादों का जिक्र इस संदेश में कर सकतें है।
जिसे आप मैसेज भेज रहे हैं, उनको यह अहसास दिलाएं कि इस स्थिति में आप उनके साथ हैं साथ ही मदद का प्रस्ताव भी दे।

शोक संदेश या श्रद्धांजलि मैसेज का नमूना (Condolence message in hindi)
मित्र के माता-पिता के निधन पर शोक सन्देश
आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश
दोस्त के पति-पत्नी के मृत्यु पर शोक सन्देश
श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए

मित्र के माता के निधन पर शोक सन्देश (Condolence message for friend’s mother death)
नमूना #1

भाई राज,

मेरी भगवान से यही प्रार्थना हैं कि आंटी जी की आत्मा को शांति और पूरे परिवार को यह दुःख सहन करने की शक्ति मिले।

मैं इस असहनीय दुःख की घड़ी में तुम्हारे साथ हूँ। अगर तुम्हें मेरी किसी भी मदद की आवश्यकता हो तो बिना किसी संकोच के मुझे बताना।

आंतरिक शोक के साथ,

condolence message in hindi

नमूना #2

आपकी माता जी कि मृत्यु का समाचार सुन कर बेहद दुःख हुआ। उनकी मृत्यु असहनीय है और उनकी कमी कोई भी पूरी नहीं कर सकता।

लेकिन भगवान की मर्ज़ी के बिना कुछ भी संभव नहीं है और भगवान को यही मंज़ूर था। लेकिन, आप अपने आपको अकेला न समझें। मैं आपके साथ हूँ और जल्द ही आपसे मिलने आ रहा हूँ।

इस मुश्किल की घड़ी में हिम्मत रखें। मेरी संवेदनाएं आपके और आपके परिवार के साथ हैं। ॐ शांति।

नमूना #3

आपके पिता की मृत्यु की दुखद खबर को अभी तक मैं अपने दिल से निकाल नहीं पा रहा हूँ। आपको हुए इस नुकसान के लिए मुझे खेद है।

आपके पिता जी को कभी भुलाया नहीं जा सकता। वो हमसे अलग नहीं हुए हैं बल्कि हमारे दिल और दिमाग में हमेशा जिंदा रहेंगे। इस कष्टकारी समय में ईश्वर आपको इस गम से लड़ने की ताकत और हौसला दे।

ईश्वर की कृपा आपके परिवार पर बनी रहे और आपके पिता जी की आत्मा को शांति प्राप्त हो।

आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश (Condolence message on accidental death)
नमूना #1

राहुल जी,

आपके बड़े भाई की अकस्मात हुई मृत्यु के बारे में सुन कर बहुत दुःख हुआ।
उनकी उम्र अभी इस दुनिया से जाने की नहीं थी, लेकिन मृत्यु पर किसी का वश नहीं चला हैं।

विपत्ति के इस समय में मेरी सहानुभूति आपके साथ है। भगवान आपको इन्हे सहन करने की शक्ति दे।

शोकाकुल,
अविनाश त्रिपाठी,

shradhanjali images

नमूना #2

आपके मित्र के निधन के बारे में सुन कर गहरा दुःख हुआ। उनका स्थान जीवन में और कोई नहीं ले सकता। लेकिन, मृत्यु ही इस जीवन का सबसे बड़ा सत्य है।

इसे बदला नहीं जा सकता। इस दुःख के समय में आप अकेले नहीं हैं। हम सब आपके साथ हैं। मैं ईश्वर से यही प्रार्थना करता हूँ कि दिवंगत आत्मा को शांति और मोक्ष मिले। आपको इस कष्ट को सहने का बल मिले।

सहेली के पति के मृत्यु पर शोक सन्देश (Condolence message for friend husband death)
नमूना #1

प्रिय आंचल,

तुम्हारे पति की अचानक मृत्यु की खबर सुन कर मैं अचंभित हूँ। वो बेहद भद्र और हंसमुख पुरुष थे। उनके अच्छे स्वभाव के कारण उन्हें हर कोई पसंद करता था।

जो बीत चुका है, उसे वापस नहीं लाया जा सकता। तुम्हारे जीवन में तुम्हारे पति की कमी कोई पूरी नहीं कर सकता। किंतु प्रिय सखी, अब बच्चे तुम पर आश्रित हैं और उनका ख्याल अब तुम्हें ही रखना है।

मेरी हार्दिक सहानुभूति तुम्हारे साथ है। भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

आंतरिक शोक के साथ,

तुम्हारी सहेली,
रजनी सिंह

नमूना #2

शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना। एक बेहतरीन व्यक्ति के चले जाने से दुखी हूँ।

भगवान उनकी आत्मा को शांति दे!

श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए (Condolence message for Indian army)
नमूना #1

मौसम बदले, दुश्मन भी बदले,
लेकिन हमारे जावानों की जिम्मेदारियां कभी नहीं बदली।

शत शत नमन।

condolence message in hindi for indian army

नमूना #2

जिक्र अगर हीरो का होगा, तो नाम भारत के वीरों का होगा।

Shradhanjali message for indian army

निधन पर शोक और श्रद्धांजलि प्रकट करने के लिए मैसेज का नमूना (Condolence RIP message sample images)

बेहतरीन शोक संदेश और गहरे श्रद्धांजलि मैसेज (Shradhanjali message) का उदाहरण – कुछ चीज़ें मनुष्य के हाथ में नहीं होती, उन्ही में से एक है किसी की मृत्यु। किसी क़रीबी के निधन का दुःख असहनीय होता है। ऐसे में आप अपनी सहानुभूति प्रकट करते हुये ‘शोक सन्देश’ भेज कर उनके दुःख को कुछ हद तक कम कर सकते हैं जिन्होंने अपने किसी खास को खोया है।

अच्छे कार्य करने वालो के निधन पर लोगों के समूहों द्वारा यथोचित श्रद्धांजलि भी दिया जाता है और उनके परिवार के सदस्यों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की जाती है।

इससे आप उन्हें यह अहसास भी दिला सकते हैं कि इस कष्ट के लम्हों में आप उनके साथ हैं। टेक्नोलॉजी की दुनिया में, कोई संदेश देने या लेने के लिये WhatsApp/SMS बहुत लोकप्रिय हो चुके है क्योंकि यह संचार का सबसे अच्छा साधन है। निचे यहाँ पर कुछ व्हाट्सऐप शोक संदेश (RIP message) शब्द और फोटो सहित दिया गया है।

किसी के निधन पर शोक कैसे व्यक्त करना है और उन्हें शोक या श्रद्धांजलि संदेश लिखते हुए आपको किन-किन चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए, जानिए:

निधन पर शोक संदेश कैसे लिखना चाहिए?
जिस भी व्यक्ति को आप यह शोक संदेश भेज रहे हों, उन्हें सामान्य रूप से सम्बोधित करें जैसे अगर वो बड़े हैं तो उन्हें श्री मान जी और छोटे हैं तो डिअर या प्रिय आदि लिखें।
आपको उस व्यक्ति के निधन का कितना दुःख हुआ है इस बात को शब्दों का रूप देने की कोशिश करें साथ ही उन्हें बताएं कि यह खबर आपको कहा से मिली।
अगर जिनका निधन हुआ है वो आपके क़रीबी है तो आप उनके साथ बिताये समय और यादों का जिक्र इस संदेश में कर सकतें है।
जिसे आप मैसेज भेज रहे हैं, उनको यह अहसास दिलाएं कि इस स्थिति में आप उनके साथ हैं साथ ही मदद का प्रस्ताव भी दे।

शोक संदेश या श्रद्धांजलि मैसेज का नमूना (Condolence message in hindi)
मित्र के माता-पिता के निधन पर शोक सन्देश
आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश
दोस्त के पति-पत्नी के मृत्यु पर शोक सन्देश
श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए

मित्र के माता के निधन पर शोक सन्देश (Condolence message for friend’s mother death)
नमूना #1

भाई राज,

मेरी भगवान से यही प्रार्थना हैं कि आंटी जी की आत्मा को शांति और पूरे परिवार को यह दुःख सहन करने की शक्ति मिले।

मैं इस असहनीय दुःख की घड़ी में तुम्हारे साथ हूँ। अगर तुम्हें मेरी किसी भी मदद की आवश्यकता हो तो बिना किसी संकोच के मुझे बताना।

आंतरिक शोक के साथ,

condolence message in hindi

नमूना #2

आपकी माता जी कि मृत्यु का समाचार सुन कर बेहद दुःख हुआ। उनकी मृत्यु असहनीय है और उनकी कमी कोई भी पूरी नहीं कर सकता।

लेकिन भगवान की मर्ज़ी के बिना कुछ भी संभव नहीं है और भगवान को यही मंज़ूर था। लेकिन, आप अपने आपको अकेला न समझें। मैं आपके साथ हूँ और जल्द ही आपसे मिलने आ रहा हूँ।

इस मुश्किल की घड़ी में हिम्मत रखें। मेरी संवेदनाएं आपके और आपके परिवार के साथ हैं। ॐ शांति।

नमूना #3

आपके पिता की मृत्यु की दुखद खबर को अभी तक मैं अपने दिल से निकाल नहीं पा रहा हूँ। आपको हुए इस नुकसान के लिए मुझे खेद है।

आपके पिता जी को कभी भुलाया नहीं जा सकता। वो हमसे अलग नहीं हुए हैं बल्कि हमारे दिल और दिमाग में हमेशा जिंदा रहेंगे। इस कष्टकारी समय में ईश्वर आपको इस गम से लड़ने की ताकत और हौसला दे।

ईश्वर की कृपा आपके परिवार पर बनी रहे और आपके पिता जी की आत्मा को शांति प्राप्त हो।

आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश (Condolence message on accidental death)
नमूना #1

राहुल जी,

आपके बड़े भाई की अकस्मात हुई मृत्यु के बारे में सुन कर बहुत दुःख हुआ।
उनकी उम्र अभी इस दुनिया से जाने की नहीं थी, लेकिन मृत्यु पर किसी का वश नहीं चला हैं।

विपत्ति के इस समय में मेरी सहानुभूति आपके साथ है। भगवान आपको इन्हे सहन करने की शक्ति दे।

शोकाकुल,
अविनाश त्रिपाठी,

shradhanjali images

नमूना #2

आपके मित्र के निधन के बारे में सुन कर गहरा दुःख हुआ। उनका स्थान जीवन में और कोई नहीं ले सकता। लेकिन, मृत्यु ही इस जीवन का सबसे बड़ा सत्य है।

इसे बदला नहीं जा सकता। इस दुःख के समय में आप अकेले नहीं हैं। हम सब आपके साथ हैं। मैं ईश्वर से यही प्रार्थना करता हूँ कि दिवंगत आत्मा को शांति और मोक्ष मिले। आपको इस कष्ट को सहने का बल मिले।

सहेली के पति के मृत्यु पर शोक सन्देश (Condolence message for friend husband death)
नमूना #1

प्रिय आंचल,

तुम्हारे पति की अचानक मृत्यु की खबर सुन कर मैं अचंभित हूँ। वो बेहद भद्र और हंसमुख पुरुष थे। उनके अच्छे स्वभाव के कारण उन्हें हर कोई पसंद करता था।

जो बीत चुका है, उसे वापस नहीं लाया जा सकता। तुम्हारे जीवन में तुम्हारे पति की कमी कोई पूरी नहीं कर सकता। किंतु प्रिय सखी, अब बच्चे तुम पर आश्रित हैं और उनका ख्याल अब तुम्हें ही रखना है।

मेरी हार्दिक सहानुभूति तुम्हारे साथ है। भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

आंतरिक शोक के साथ,

तुम्हारी सहेली,
रजनी सिंह

नमूना #2

शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना। एक बेहतरीन व्यक्ति के चले जाने से दुखी हूँ।

भगवान उनकी आत्मा को शांति दे!

श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए (Condolence message for Indian army)
नमूना #1

मौसम बदले, दुश्मन भी बदले,
लेकिन हमारे जावानों की जिम्मेदारियां कभी नहीं बदली।

शत शत नमन।

condolence message in hindi for indian army

नमूना #2

जिक्र अगर हीरो का होगा, तो नाम भारत के वीरों का होगा।

Shradhanjali message for indian army

निधन पर शोक और श्रद्धांजलि प्रकट करने के लिए मैसेज का नमूना (Condolence RIP message sample images)

बेहतरीन शोक संदेश और गहरे श्रद्धांजलि मैसेज (Shradhanjali message) का उदाहरण – कुछ चीज़ें मनुष्य के हाथ में नहीं होती, उन्ही में से एक है किसी की मृत्यु। किसी क़रीबी के निधन का दुःख असहनीय होता है। ऐसे में आप अपनी सहानुभूति प्रकट करते हुये ‘शोक सन्देश’ भेज कर उनके दुःख को कुछ हद तक कम कर सकते हैं जिन्होंने अपने किसी खास को खोया है।

अच्छे कार्य करने वालो के निधन पर लोगों के समूहों द्वारा यथोचित श्रद्धांजलि भी दिया जाता है और उनके परिवार के सदस्यों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की जाती है।

इससे आप उन्हें यह अहसास भी दिला सकते हैं कि इस कष्ट के लम्हों में आप उनके साथ हैं। टेक्नोलॉजी की दुनिया में, कोई संदेश देने या लेने के लिये WhatsApp/SMS बहुत लोकप्रिय हो चुके है क्योंकि यह संचार का सबसे अच्छा साधन है। निचे यहाँ पर कुछ व्हाट्सऐप शोक संदेश (RIP message) शब्द और फोटो सहित दिया गया है।

किसी के निधन पर शोक कैसे व्यक्त करना है और उन्हें शोक या श्रद्धांजलि संदेश लिखते हुए आपको किन-किन चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए, जानिए:

निधन पर शोक संदेश कैसे लिखना चाहिए?
जिस भी व्यक्ति को आप यह शोक संदेश भेज रहे हों, उन्हें सामान्य रूप से सम्बोधित करें जैसे अगर वो बड़े हैं तो उन्हें श्री मान जी और छोटे हैं तो डिअर या प्रिय आदि लिखें।
आपको उस व्यक्ति के निधन का कितना दुःख हुआ है इस बात को शब्दों का रूप देने की कोशिश करें साथ ही उन्हें बताएं कि यह खबर आपको कहा से मिली।
अगर जिनका निधन हुआ है वो आपके क़रीबी है तो आप उनके साथ बिताये समय और यादों का जिक्र इस संदेश में कर सकतें है।
जिसे आप मैसेज भेज रहे हैं, उनको यह अहसास दिलाएं कि इस स्थिति में आप उनके साथ हैं साथ ही मदद का प्रस्ताव भी दे।

शोक संदेश या श्रद्धांजलि मैसेज का नमूना (Condolence message in hindi)
मित्र के माता-पिता के निधन पर शोक सन्देश
आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश
दोस्त के पति-पत्नी के मृत्यु पर शोक सन्देश
श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए

मित्र के माता के निधन पर शोक सन्देश (Condolence message for friend’s mother death)
नमूना #1

भाई राज,

मेरी भगवान से यही प्रार्थना हैं कि आंटी जी की आत्मा को शांति और पूरे परिवार को यह दुःख सहन करने की शक्ति मिले।

मैं इस असहनीय दुःख की घड़ी में तुम्हारे साथ हूँ। अगर तुम्हें मेरी किसी भी मदद की आवश्यकता हो तो बिना किसी संकोच के मुझे बताना।

आंतरिक शोक के साथ,

condolence message in hindi

नमूना #2

आपकी माता जी कि मृत्यु का समाचार सुन कर बेहद दुःख हुआ। उनकी मृत्यु असहनीय है और उनकी कमी कोई भी पूरी नहीं कर सकता।

लेकिन भगवान की मर्ज़ी के बिना कुछ भी संभव नहीं है और भगवान को यही मंज़ूर था। लेकिन, आप अपने आपको अकेला न समझें। मैं आपके साथ हूँ और जल्द ही आपसे मिलने आ रहा हूँ।

इस मुश्किल की घड़ी में हिम्मत रखें। मेरी संवेदनाएं आपके और आपके परिवार के साथ हैं। ॐ शांति।

नमूना #3

आपके पिता की मृत्यु की दुखद खबर को अभी तक मैं अपने दिल से निकाल नहीं पा रहा हूँ। आपको हुए इस नुकसान के लिए मुझे खेद है।

आपके पिता जी को कभी भुलाया नहीं जा सकता। वो हमसे अलग नहीं हुए हैं बल्कि हमारे दिल और दिमाग में हमेशा जिंदा रहेंगे। इस कष्टकारी समय में ईश्वर आपको इस गम से लड़ने की ताकत और हौसला दे।

ईश्वर की कृपा आपके परिवार पर बनी रहे और आपके पिता जी की आत्मा को शांति प्राप्त हो।

आकस्मिक निधन पर शोक सन्देश (Condolence message on accidental death)
नमूना #1

राहुल जी,

आपके बड़े भाई की अकस्मात हुई मृत्यु के बारे में सुन कर बहुत दुःख हुआ।
उनकी उम्र अभी इस दुनिया से जाने की नहीं थी, लेकिन मृत्यु पर किसी का वश नहीं चला हैं।

विपत्ति के इस समय में मेरी सहानुभूति आपके साथ है। भगवान आपको इन्हे सहन करने की शक्ति दे।

शोकाकुल,
अविनाश त्रिपाठी,

shradhanjali images

नमूना #2

आपके मित्र के निधन के बारे में सुन कर गहरा दुःख हुआ। उनका स्थान जीवन में और कोई नहीं ले सकता। लेकिन, मृत्यु ही इस जीवन का सबसे बड़ा सत्य है।

इसे बदला नहीं जा सकता। इस दुःख के समय में आप अकेले नहीं हैं। हम सब आपके साथ हैं। मैं ईश्वर से यही प्रार्थना करता हूँ कि दिवंगत आत्मा को शांति और मोक्ष मिले। आपको इस कष्ट को सहने का बल मिले।

सहेली के पति के मृत्यु पर शोक सन्देश (Condolence message for friend husband death)
नमूना #1

प्रिय आंचल,

तुम्हारे पति की अचानक मृत्यु की खबर सुन कर मैं अचंभित हूँ। वो बेहद भद्र और हंसमुख पुरुष थे। उनके अच्छे स्वभाव के कारण उन्हें हर कोई पसंद करता था।

जो बीत चुका है, उसे वापस नहीं लाया जा सकता। तुम्हारे जीवन में तुम्हारे पति की कमी कोई पूरी नहीं कर सकता। किंतु प्रिय सखी, अब बच्चे तुम पर आश्रित हैं और उनका ख्याल अब तुम्हें ही रखना है।

मेरी हार्दिक सहानुभूति तुम्हारे साथ है। भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

आंतरिक शोक के साथ,

तुम्हारी सहेली,
रजनी सिंह

नमूना #2

शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना। एक बेहतरीन व्यक्ति के चले जाने से दुखी हूँ।

भगवान उनकी आत्मा को शांति दे!

श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए (Condolence message for Indian army)
नमूना #1

मौसम बदले, दुश्मन भी बदले,
लेकिन हमारे जावानों की जिम्मेदारियां कभी नहीं बदली।

शत शत नमन।

condolence message in hindi for indian army

नमूना #2

जिक्र अगर हीरो का होगा, तो नाम भारत के वीरों का होगा।

Shradhanjali message for indian army
















 

 

रस्म पगड़ी – रस्म पगड़ी उत्तर भारत और पाकिस्तान के कुछ क्षेत्रों की एक सामाजिक रीति है, जिसका पालन हिन्दू, सिख और सभी धार्मिक समुदाय करते हैं। इस रिवाज में किसी परिवार के सब से अधिक उम्र वाले पुरुष की मृत्यु होने पर अगले सब से अधिक आयु वाले जीवित पुरुष के सर पर रस्मी तरीके से पगड़ी (जिसे दस्तार भी कहते हैं) बाँधी जाती है। क्योंकि पगड़ी इस क्षेत्र के समाज में इज़्जत का प्रतीक है, इसलिए इस रस्म से दर्शाया जाता है। परिवार के मान- सम्मान और कल्याण की जिम्मेदारी अब इस पुरुष के कन्धों पर है। साथ ही जो लोग पगड़ी पहनाते हैं, वे आश्वासन देते हैं कि भले ही घर के सबसे मह्त्वपूर्ण व्यक्ति का सहारा घर से छूट गया हो, अब इस घर के दुःख में, आवश्यकता में हम लोग साथ खड़े होंगे। इससे घर के जिम्मेदार व्यक्ति को खोने का शोक कम होता है। रस्म पगड़ी का संस्कार या तो अन्तिम संस्कार के तीसरे, चौथे दिन या फिर तेहरवीं को आयोजित किया जाता है। वैसे समयाभाव के कारण रस्म पगड़ी से पूर्व घर में तर्पण यज्ञादि का क्रम भी पूरा कर लेना चाहिए। पुरातन शास्त्रों में भी तीसरे- चौथे दिन आशौच शुद्धि हो जाती है। आने- जाने वाले परिजनों- परिवारीजनों को भी इस सामाजिक बन्धन से मुक्ति मिल जाती है। समय और परिस्थिति के अनुसार भी यही अनुकूल रहता है।
(यज्ञ- कर्मकाण्ड प्रकरण में दिये गये मन्त्रों का उपयोग करेंं)

मङ्गलाचरण, षट्कर्म, पृथ्वीपूजन, तिलक, कलावा, कलश व दीपपूजन, गुरु- गायत्री का आवाहन एवं स्वस्तिवाचन करें-
यम आवाहन-
ॐ सुगन्नुपन्थां प्रदिशन्नऽएहि ज्योतिष्मध्येह्यजरन्नऽआयुः।
अपैतु मृत्युममृतं मऽआगाद् वैवस्वतो नोऽ अभयं कृणोतु।
ॐ यमाय नमः। आवाहयामि, स्थापयामि, ध्यायामि॥

पितृ आवाहन- (दिवङ्गत आत्मा का चित्र)
ॐ पितृभ्यः स्वधायिभ्यः स्वधा नमः
पिता महेभ्यः स्वधायिभ्यः स्वधा नमः
प्रपितामहेभ्यः स्वधायिभ्यः स्वधा नमः अक्षन्न पितरो मीमदन्तपितरो
तीतृपन्त पितरः पितरः सुन्धध्वम्।
ॐ पितृभ्यो नमः॥

सर्वदेव नमस्कारः, पञ्चोपचार / षोडशोपचारपूजनम्, स्वस्तिवाचनम् के बाद सामूहिक गायत्री मन्त्र का पाठ (१२ या २४ बार) करें।

प्रार्थना
मङ्गल मन्दिर खोलो
मङ्गल मन्दिर खोलो दयामय।
जीवन बीता बड़े वेग से,
द्वार खड़ा शिशु भोलो।
मिटा अँधेरा ज्योति प्रकाशित,
शिशु को गोद में ले लो।
नाम तुम्हारा रटा निरन्तर, बालक से प्रिय बोलो।
दिव्य आश से बालक आया, प्रेम अमिय रस घोलो ।।

परिजनों द्वारा कुल परम्परा के अनुसार तिलक, पगड़ी इत्यादि करें- तत्पश्चात् शान्तिपाठ कर पुष्पांजलि करते हुए सभी लोग परिवारजनों को आश्वस्त करते हुए बाहर होते हैं।


निधन पर शोक और श्रद्धांजलि प्रकट करने के लिए मैसेज का नमूना (Condolence RIP message sample images)

बेहतरीन शोक संदेश और गहरे श्रद्धांजलि मैसेज (Shradhanjali message) का उदाहरण – कुछ चीज़ें मनुष्य के हाथ में नहीं होती, उन्ही में से एक है किसी की मृत्यु। किसी क़रीबी के निधन का दुःख असहनीय होता है। ऐसे में आप अपनी सहानुभूति प्रकट करते हुये ‘शोक सन्देश’ भेज कर उनके दुःख को कुछ हद तक कम कर सकते हैं जिन्होंने अपने किसी खास को खोया है।

अच्छे कार्य करने वालो के निधन पर लोगों के समूहों द्वारा यथोचित श्रद्धांजलि भी दिया जाता है और उनके परिवार के सदस्यों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की जाती है।

इससे आप उन्हें यह अहसास भी दिला सकते हैं कि इस कष्ट के लम्हों में आप उनके साथ हैं। टेक्नोलॉजी की दुनिया में, कोई संदेश देने या लेने के लिये WhatsApp/SMS बहुत लोकप्रिय हो चुके है क्योंकि यह संचार का सबसे अच्छा साधन है। निचे यहाँ पर कुछ व्हाट्सऐप शोक संदेश (RIP message) शब्द और फोटो सहित दिया गया है।

किसी के निधन पर शोक कैसे व्यक्त करना है और उन्हें शोक या श्रद्धांजलि संदेश लिखते हुए आपको किन-किन चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए, जानिए:

निधन पर शोक संदेश कैसे लिखना चाहिए?
जिस भी व्यक्ति को आप यह शोक संदेश भेज रहे हों, उन्हें सामान्य रूप से सम्बोधित करें जैसे अगर वो बड़े हैं तो उन्हें श्री मान जी और छोटे हैं तो डिअर या प्रिय आदि लिखें।
आपको उस व्यक्ति के निधन का कितना दुःख हुआ है इस बात को शब्दों का रूप देने की कोशिश करें साथ ही उन्हें बताएं कि यह खबर आपको कहा से मिली।
अगर जिनका निधन हुआ है वो आपके क़रीबी है तो आप उनके साथ बिताये समय और यादों का जिक्र इस संदेश में कर सकतें है।
जिसे आप मैसेज भेज रहे हैं, उनको यह अहसास दिलाएं कि इस स्थिति में आप उनके साथ हैं साथ ही मदद का प्रस्ताव भी दे।

rasam pagri matter in hindi for whatsapp
rasam pagri matter in english for whatsapp
rasam pagri matter in english
rasam pagri matter in punjabi
rasam pagri invitation matter in hindi
rasam pagri invitation matter in english

rasam pagri matter in english
rasam pagri format
rasam pagri quotes
rasam pagri pravachan
rasam pagri ceremony
speech on rasam pagri in hindi

rasam pagri matter in english
rasam pagri format
rasam pagri quotes
rasam pagri matter in english for whatsapp
rasam pagri pravachan
speech on rasam pagri in hindi
rasam pagri meaning
rasam pagri meaning in hindi

Rasam Pagri Ad Sampes of Newspaper

 

==================================================================

रस्म पगड़ी – शोक सन्देश

अत्यन्त दुःख के साथ सुचित करना पड़ है कि हमारे पूजनीय पिताजी श्रीनारायण लाल बापलावत (मेंबर) पुत्रस्व. श्री रोडूराम जी का स्वर्गवास दिनांक 20.10.2017 को हो गया है। जिनकी तीये की बैठक 22.10.2017 रविवार को 1:00 से 3:00 तक सीताराम जी के मंदिर के पास ग्राम गोल्यावास मानसरोवर, जयपुर पर रखी गयी है। शोकाकुल:- रामेश्वरलाल, सूरजमल, लालाराम, भगवान सहाय, गोपाल, बाबू, राजेश, खेमचंद, कमलेश, नरेश (पुत्र), ग्यारसीलाल, प्रकाश, बनवारी, ताराचंद, सुरेश, रोशन, दीपक, सुनील, मनीष, लोकेश, अनुराग, अंशु, आशु (पौत्र), निखिल, प्रियांशु, प्रतीक (प्रपोत्र) एवं समस्त बापलावत परिवार। 9782363819, श्रीराम नर्सरी पत्रकार रोड गोल्यावास।

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि हमारी पूज्यनीय माताजी श्रीमतीशकुन्तला देवी (धर्मप|ीस्व. श्री मोतीलाल जी टोडवाल) का स्वर्गवास शुक्रवार 20 अक्टूबर 2017 को हो गया है। तीये की बैठक रविवार 22 अक्टूबर 2017 को सांयकाल 4 से 5 बजे तक बालाजी मेरिज गार्डन सिरसी रोड, भांकरोटा पर होगी। शोकाकुल:- भंवरलाल, राधेश्याम, मोहन, सत्यनारायण, रामबाबू, नरेन्द्र, घनश्याम, नरेन्द्र, रामशरण (देवा), रामस्वरूप, अनिल, विनोद, सन्दीप (पुत्र), गोविन्द, पुरूषोतम (भतीजे) एवं समस्त टोडवाल परिवार। मोबाइल 8890038404, पीहरपक्ष- सूर्यप्रकाश, दीपक कुमार भीलवाड़ा।

मेरी सुपुत्री इन्द्रादेवी प|ीश्री सीताराम जी टोडावाल (चावन्डिया वाले) का आकस्मिक निधन दिनांक 18.10.2017 को हो गया है जिसकी पीहर पक्ष की तीये की बैठक दिनांक 22.10.2017 को आदर्श विद्या मंदिर, मंगेज सिंह पेट्रोल पम्प के पीछे, झोटवाडा़ में सांयकाल 3 से 3.30 बजे तक होगी शोकाकुल- लादूलाल- राजल देवी (माता- पिता), गुलाब देवी (ताईजी) रामनारायण- ममता, गिरिराज- अर्चना, पुरूषोत्तम- अंजना (भाई- भाभी) अनिता- हरिमोहन, शारदा- सत्यनारायण, सन्तोष- ओमप्रकाश, शान्ति- विजय, सुमन- नन्दकिशोर, ममता- विष्णु (बहन -बहनोई) अनामिका, पायल, आर्यन, हनी, तनिष्क (भतिजा- भतीजी) एंव पाटीडिया परिवार (भासू वाले)- 9929383685

हमारे पूजनीय श्रीमोहनदास सबधानी पुत्रस्वर्गीय श्री राधाकिशन सबधानी का स्वर्गवास दिनांक 20. 10. 17 को हो गया। तीये की बैठक 22. 10. 17 को सायं 4.30 बजे झूलेलाल मंदिर सेक्टर 5 हाउसिंग बोर्ड, शास्त्री नगर होगी। शोकाकुल- चन्दा देवी (प|ी), दिलीप-लता, वासदेव- पूनम (पुत्र- पुत्रवधू), ईश्वरलाल- जया, लक्ष्मणदास- मीना (भाई- भाभी), किशोर- रिया, कमलेश- रिद्वी (भतीजा- बहू), जितेश, कपिल (भतीजे), मनोहर- भारती (दामाद- पुत्री), मनीष- रितु (दामाद- भतीजी), भाविका- रवि (पौत्री- दामाद), मनीष, नमन (पौत्र), रेनु, काजल, दिव्यांशी (पौत्री), पदम, लविश, भव्य (दोहिता), खुशबू (दोहिता) एवं समस्त सबधानी परिवार, 9351787644, 9351787645

हमारे बहनोई श्रीलक्ष्मीनारायण जी घीवालों का आकस्मिक निधन 20-10-2017 को हो गया है, ससुराल पक्ष की बैठक दिनांक 22-10-2017 को 1:00 से 1:45 तक झूलेलाल मन्दिर, कंवर नगर पर होगी तत्पश्चात‌ अग्रसेन बगीची जायेगी, शोकाकुल- ताराचन्द, मोहिनी देवी, डॉ0 सीताराम-पुष्पा, राधेश्याम-शांती, सत्यनारायण-संतोष (साले-सालाएली) , शांती डेरेवाला, कान्ता-सतपाल जी (साली-साढू), कृष्ण गोपाल, गोपालकृष्ण, रामअवतार, उमेश, दीपक, देवेन्द्र, सौरभ (चूडीवाला) (भतीजे) एवं समस्त सीपरिया परिवार मोबाईल-9829286797

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि मेरी प|ी श्रीमतीभंवरी देवी कास्वर्गवास 20. 10. 2017 को हो गया। तीये की बैठक 22. 10. 2017 रविवार को 2.00 से 4.00 तक मेरे निवास कालवाड़ (तालामोड़) अचरोल पर होगी। शोकाकुल- रेबड़ मणकस (पति), सेडूराम, भैरूराम, हनुमान सहाय पूर्व सरपंच काट, (जेठ) गज्जूराम, फूलाराम (देवर), मदनलाल, कानाराम, बाबूलाल, शंकरलाल, हरिनारायण (प्रदेश महामंत्री श्री देवनारायण जन- कल्याण संस्थान), रामनारायण, गोपाल, जगदीश, अशोक, कन्हैयालाल, धोलूराम, पायलेट, धारासिंह, अमरसिंह (पुत्र) कैलाश, सीताराम, हेमराज, दीपक, मनीष. इन्द्रराज, आर्मी, संदीप (पौत्र) एवं समस्त मणकस परिवार 7737456807, पिहर- बाबूलालजी चांड, शास्त्री नगर, जयपुर।

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि मेरी धर्मप|ी श्रीमतीगीता कश्यप प|ीश्री एल.के. कश्यप का आकस्मिक स्वर्गवास दिनांक 20. 10. 2017 को हो गया जिसकी तीये की बैठक दिनांक 22. 10. 2017 को सांय 4 से 5 बजे निवास स्थान देव अपार्टमेंट, गौतम मार्ग, जे.एन. मिश्रा अस्पताल के सामने, हनुमान नगर, जयपुर पर होगी। शोकाकुल- बालकिशन- निर्मल (भ्राता- भ्रातावधु), अमित- गगनदीप (पुत्र- पुत्रवधू), बच्चुसिंह- डिम्पल सिंह, कारेश- सोनिया, विनित- सिम्पल (पुत्री- दामाद), रजनी (पुत्री) एवं समस्त परिवारजन मित्रगण, 9414041594, 9001057100

हमारी पूजनीया श्रीमतीविमला देवी (धर्मप|ीगिरधारी लाल भादरिया( (जांगिड़)तह. अध्यक्ष चौमू मोरीजा का देहावसान 20. 10. 2017 को हो गया। सो तीये की बैठक 22. 10. 2017 को सायं 4 से 5 बजे तक खातियों की पक्की ढाणी, मोरीजा में होगी। शोकाकुल- प्रभूदयाल जी (जेठ), सीताराम, महेश, मुकेश, मिन्टटू जोगिन्द्र पुत्र एवं गोपाललाल, साधुराम, ताराचन्द, तेजपाल, शंकर, लक्ष्मीनारायण, ओमप्रकाश, मूलचन्द, बजरंग, शिवनारायण, सुरेन्द्र, मुरारी एवं समस्त भांदरिया (जांगिड़) परिवार. पक्की ढाणी, मोरीजा 9352946043, 9829624993

हमारी छोटी बहन श्रीमतीरेणु सक्सेना धर्मप|ीस्व. जितेन्द्र कुमार सक्सेना का स्वर्गवास दिनांक 20. 10. 2017 को हो गया है। तीये की बैठक रविवार दिनांक 22. 10. 2017 को शाम 4 बजे से 5 बजे तक 101, भृगु नगर, अजमेर रोड, जयपुर पर होगी। शोकाकुल- प्रांशु (पुत्र), सुरेन्द्र सक्सेना (भ्राता), योगेश सक्सेना (भ्राता), कमलेश सक्सेना (बहन), नीरू सक्सेना (जीजी), रिषिकान्त सक्सेना (जीजाजी), सोनू, बिटिया (भान्जा- भान्जी)

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि हमारी पूजनीय माताजी श्रीमतीनर्बदा देवी प|ीस्व. ठा. जगदीश सिंह शेखावत का स्वर्गवास दिनांक 20. 10. 2017 को हो गया है। तीये की बैठक रविवार 22. 10. 2017 को सांय 4.30 से 5.30 बजे तक के.के. पैराडाइज, बाल्टी फैक्ट्री के पास, आगरा रोड, जयपुर पर होगी। शोकाकुल- ठा. लक्षमण सिंह, कैलाश सिंह, रमेश सिंह, विजय सिंह (पुत्र), जितेन्द्र सिंह, सुल्तान सिंह, अमर सिंह, अजय सिंह, शुभम सिंह, तुषार सिंह (पौत्र) एवं समस्त शेखावत परिवार। 9950557219, 8561045304

मेरे पूजनीय पिताजी श्रीसुमेर सिंह तंवर पुत्रस्व. श्री गोपाल सिंह का स्वर्गवास दिनांक 19.10.17 को हो गया है। तीये की बैठक 22.10.17 रविवार को निवास स्थान 141, श्याम नगर विस्तार नाड़ी का फाटक जयपुर पर सायं 4.30-5.30 बजे तक होगी। शोकाकुल- जोन्टी सिंह (पुत्र), ठा. श्रवण सिंह, देवी सिंह, बाबूसिंह, केसर सिंह, सुरज्ञान सिंह (भाई) एवं समस्त तंवर परिवार, ठिकाना नीम का थाना वाले, 9024363499, 9079051173

हमारे पूजनीय पिताजी श्रीलक्ष्मीनारायण जी अग्रवाल (घीवाले) पुत्र स्वर्गीय श्री नाथूलाल जी अग्रवाल का स्वर्गवास दिनांक 20-10-2017 को हो गया है, तीये की बैठक दिनांक 22-10-2017 रविवार को 1 बजे से 2 बजे तक अग्रसेन बगीची, चांदी की टकसाल, जयपुर पर होगी शोकाकुल श्रीमती पुष्पा देवी (धर्मप|ी), सीता देवी (भाभी), हनुमानप्रसाद, महेन्द्र (भतीजे), धर्मेन्द्र, याेगेन्द्र, मनीष (पुत्र), शान्ति देवी-स्व0 लल्लूनारायणजी (मोरीजा वाले), सुशीला देवी-सीताराम जी (खटाई वाले) (बहन-बहनोई), बबीता- महावीर जी पोद‌दार, रूचिता-विश्वजीत जी (बरखडी वाले) (पुत्री-दामाद), समस्त घी वाला परिवार 9829006685

हमारे पूजनीय जीजाजी श्रीलक्ष्मीनारायण जी (मुन्नाजी) सुपुत्र स्व0 श्री नाथुलाल जी घी वाले का स्वर्गवास दिनांक 20-10-2017 को हो गया है, जिनकी ससुराल पक्ष की तीये की बैठक दिनांक 22-10-2017 को दोपहर 1:00 बजे से 1:45 तक झूलेलाल मंदिर, कंवर नगर जयपुर पर होगी। तत्पश्चात‌ मुख्य बैठक अग्रसेन बगीची मे शामिल होगी शोकाकुल- श्रीमती कौशल्या देवी (सास), निरंजन (बबलू), संजय (साले), मंजू-विशम्भर दयाल, निर्मला-चन्द्रमोहन, सुनीता-मुकेश जी, मनीषा (पिंकी)-मुकेश (साली-साढू),एवम समस्त संघी परिवार मनोहरपुर वाले मोबाईल- 9782940723

हमारे पूजनीय पिताजी श्रीशशिकांत जी बंसल कास्वर्गवास हो गया तीये की बैठक 22-10-2017 को 04:00 से 05:00 अग्रवाल भवन चर्च के पास शिप्रा पथ मानसरोवर जयपुर पर होगी। शोकाकुल:- गीता देवी (धर्मप|ी) रजनीकान्त, मुन्नी देवी (भाई- भाभी), राकेश (सुपुत्र), निलम- विष्णु जी, मधु- मनीष जी, कुसुम- गोविन्द जी (पुत्री- दामाद) 9509676354

श्रीमतीरणजीत मरवाह प|ीस्व. श्री बलबीरसिंह मरवाह का स्वर्गवास दि. 20.10.2017 को हो गया है। तीये की बैठक रविवार दि. 22.10.2017 को सांय 4 से 5 बजे तक सामुदायिक भवन सेक्टर-5, SBI के पास गिरधर मार्ग, मालवीय नगर में होगी। शोकाकुल:- महेन्द्र सिंह, नरेन्द्र सिंह, अजीत सिंह मरवाह (पुत्र), आशा मरवाह (क्यूट पार्लर- पुत्रवधु), हरषित सिंह- निकिता, कर्ण सिंह (पौत्र) मीना- रमेश किनरा, दीप्ती- हेमन्त नारंग (पुत्रीयाँ- जवाई) एवं समस्त मरवाह परिवार। 9828125002

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि हमारी पूजनीया माताजी श्रीमतीगीता देवी प|ीश्री बालचंदजी सवेदा ग्राम रूल्याना पट्टी (सीकर) का देवलोकगमन दिनांक 21. 10. 17 शनिवार को हो गया। शोकाकुल- महावीर प्रसाद, बनवारी, बिहारी (पुत्र), मदनलाल, गजानन्द (देवर), कैलाश (देवर पुत्र), पंकज, विवेक, सौरव, तरुण (पौत्र), किंशुक, हिरेन (पड़पौत्र) एवं समस्त सेवदा परिवार, 9829053808, 9414073608

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि मेरे प्रिय पुत्र विकाससाहू पुत्ररामवतार साहू का स्वर्गवास दिनांक 20. 10. 2017 को हो गया है जिसकी तीये की बैठक दिनांक 22. 10. 2017 रविवार को सांय 3 से 4 बजे निवास स्थान- एफ-8-ए, किरण विहार पर होगी। शोकाकुल- मोतीलाल साहू (दादाजी), कमलेश साहू, किशन गोपाल (ताऊजी), मुकेश, उमाशंकर (चाचा), सत्यनारायण, राजेश, रवि, करण, हनी, कृष (भाई), वैभव, हर्षित (भतीजे) एवं समस्त कोरत्या परिवार। 9001524417, 9351762194

हमारी पूजनीया माताजी श्रीमतीलक्ष्मी देवी सोनी धर्मप|ीस्वर्गीय श्री भागीरथमल जी सोनी का देहावसान दिनांक 19/10/2017 को हो गया है। जिनकी तीये की बैठक दिना॑क 22/10/2017, रविवार को सायं 4 से 5 बजे तक रामेश्वरम महादेव मंदिर पार्क, जागृति विवाहस्थल के पीछे, श्रीरामनगर विस्तार, झोटवाड़ा जयपुर पर होगी। शोकाकुल: सत्यनारायण (देवर) मुरारीलाल- चन्दा देवी, महावीरप्रसाद- कोशल्या देवी (पुत्र- पुत्रवधु), चतरभुज, मोहनमुरारी, (भतीजे), सुनील कुमार- सुलोचना, अशोक- अरुणा (पौत्र- पौत्रवधु), मनोज, नवर|, सुरेन्द्र (पौत्र) मनीष, कार्तिक, कृष्णा(प्रपौत्र) भवानी (प्रपौत्री) एव॑ समस्त कुकरा परिवार, रामगढ़ शेखावाटी वाले।।मो. 9314836255,9829136255

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि हमारे पूजनीय पिताजी श्रीकिशनलाल सैनी कास्वर्गवास दिनांक 20. 10. 17 को हो गया है। तीये की बैठक दिनांक 22. 10. 17 को 4.30 से 5.30 बजे हमारे निवास स्थान हसनपुरा-ए पर होगी। शोकाकुल- राजेन्द्र सैनी, बजरंग सैनी, रिंकू सैनी (भाई), करण (भतीजा)।

अत्यन्त दुःख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि मेरे प्रिय पुत्र विकाससक्सेना कास्वर्गवास 20-10-2017 को हो गया है। जिनकी तीये की बैठक 22-10-2017 रविवार को सांय 04:00 से 05:00 बजे तक हमारे निवास स्थान 92/171, पटेल मार्ग, मानसरोवर, जयपुर पर होगी। शोकाकुल:- कमलेन्द्र सक्सेना- ज्योति (माता- पिता), ममता (प|ी), अक्षित (पुत्र), नरेन्द्र, सुरेश, योगेन्द्र, सतीश (ताऊ), चंद्र प्रकाश (चाचा) एवं समस्त परिवार। 9587958420

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि हमारी आदरणीय बहन श्रीमतीसुशीला देवी प|ीश्री गजानन्द जी दुसाद का स्वर्गवास दिनांक 20. 10. 2017 को हो गया है। तीये की बैठक 22. 10. 2017 को सांय 4 से 4.45 तक आदर्श विद्या मंदिर, अम्बाबाड़ी, जयपुर रखी गई है। शोकाकुल- रामोतार (चाचा), कैलाश, शंकरलाल (भाई), विष्णु, विशाल (भतीजा) एवं समस्त कुलवार (बोहरा) परिवार नायला वाले, 8854833419

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि श्रीमतीसुशीला देवी धर्मप|ीगजानन्द दुसाद का स्वर्गवास 20. 10. 2017 को हो गया है। जिनकी तीये की बैठक 22. 10. 2017 को सांय 4 से 5 बजे तक स्थान आदर्श विद्या मंदिर स्कूल अम्बाबाड़ी, जयपुर पर होगी। शोकाकुल- रामानन्द, चौथमल, राधाकिशन, रामकिशोर, श्रीनारायण (जेठ), बाबूलाल, मोहनलाल (देवर), गंगाशरण, गौरीशंकर, देवशरण, नीरज, विनय, संजय, शिवम (पुत्र), रेखा- सुनिल, नीतु- प्रवीण (पुत्री- दामाद), महित, भाविन (दोहिते) एवं समस्त दुसाद परिवार (खोरा श्यामदास वाले), 9929712300, 9529379863

हमारी पूजनीय माताजी श्रीमतीगीता देवी प|ीस्व. श्री प्रकाशचन्द नानकानी (सिंधी- पंजाबी) दिनांक 20.10.2017 को स्वर्गवास हो गया है। जिनकी तीये की बैठक दिनांक 22.10.17 रविवार को निवास स्थान 3/625, मालवीया नगर के पास पार्क में सांय 5 बजे रखी गई है। शोकाकुल- धर्मेन्द्र (पुत्र), धर्मेन्द्र- जयकिशन (भतीजे), वर्षा- जय, खुशबु- दीपक, हेमा- हेमन्त, हर्षा- देवा (पुत्री- दामाद), समस्त नानकानी परिवार, 9636989139, 7737708168

अत्यन्त दुख के साथ सूचित किया जाता है कि हमारे पिताजी डॉ.सुरेश कुमार सक्सैना कानिधन दिनांक 20. 10. 2017 को हो गया है। तीये की बैठक दिनांक 22. 10. 2017 को सांय 4.30 से 5.30 श्री गोपाल नगर, पालीवाल गार्डन, जेडीए पार्क (डॉ. यू.एस. अग्रवास के पास) पर रखी गई है। शोकाकुल- उषा (प|ी), राहुल- निशि, पुनीत- जयिता (पुत्र- पुत्रवधु), अतिष- मंजू (भाई- भाभी), नवीन- लक्ष्मी, अभिषेक- श्वेता, ओजस (भतीजे), सृष्टि, भव्य, वरिष्ठा, पूर्वीषा, लवांश (पौत्र- पौत्री), ननिहाल पक्ष- राजेन्द्र- शगुन, राकेश- स्वर्ण, मुकेश- साधना, दिनेश- राधिका, वंदना, संजय- आराधना (भाई- भाभी), निवास: 84, सुल्तान नगर, गुर्जर की थड़ी, जयपुर। 9829056625, 9314274769, 0141-2290632

अत्यन्त दुख के साथ सूचित किया जाता है कि मेरी धर्मप|ि श्रीमतीइन्द्रा देवी गुप्ता कास्वगर्वास दिनांक 18/10/2017 को हो गया है जिनकी तीये की बैठक दिनांक 22/10/2017 को आदर्श िवद्या मंदिर, बोरिंग चौराहा, पेट्रोल पम्प के पीछे, झोटवाडा पर सांयकाल 3 से 4 बजे तक होगी शोकाकुल- सीताराम गुप्ता (पति) (पूर्व सरपंच चावन्डिया तहसील- मालपुरा, जिला टोंक) रामेश्वर प्रसाद (ससुर) जगदीश प्रसाद (जेठ) राजेश (देवर) नेहा- विकास जी (पुत्री- दामाद) नन्द किशोर, विकास, आशिष, विनोद, जानू (पुत्र) समर्थ (पौत्र) (टोेडारायसिंह वाले) Mobile- 7665333344, 9928482450

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि हमारे पूज्य पिताजी श्रीदिनेश सैन सुपुत्रस्व. श्री कैलाश सैन का निधन 17. 10. 2017 मंगलवार को हो गया। जिनकी बैठक 22. 10. 2017 रविवार को सांय 4 से 5 बजे तक ई-5/3, 36 क्वार्टस राजस्थान यूनिवर्सिटी कैम्पस, जयपुर पर होगी। शोकाकुल- भगवती देवी (धर्मप|ी), संदीप, रवि, पूजा, सोनाली (पुत्र- पुत्री), राधेश्याम, सुरेश, अशोक (चाचा), सत्यनारायण, विनोद, नरेश, मनीष (भ्राता) एवं समस्त बादशाह परिवार (मण्डावर वाले) 9929236781, 9024640787

अत्यन्त दुख के साथ सूचित किया जाता है कि हमारी पूजनीय माताजी श्रीमतीसोनी देवी धर्मप|ीस्व.श्री दामोदर बाछल का स्वर्गवास दिनांक 20.10.2017 को हो गया है, जिनकी तीये की बैठक दिनांक 22.10.2017 को सांय 4 से 5 बजे हमारे निवास स्थान -110 दीपनगर, दादी का फाटक, झोटवाड़ा, जयपुर पर होगी,शोकाकुल- गिरधारीलाल (देवर), पूरण (भतीजा) अशोक, रमेश (पुत्र) एवं समस्त बाछल (बन्धेवाले)परिवारमो.9929556774, 7877779988

अत्यन्त दुख के साथ सूचित किया जाता है कि मेरी धर्मप|ी श्रीमतीचन्द्रकान्ता पाटोदिया कास्वर्गवास दिनांक 21 अक्टूबर को हो गया है। शवयात्रा दिनांक 22 अक्टूबर को सुबह 9 बजे मेरे निवास स्थान 4, पुष्पा पथ उनियारा गार्डन से आदर्श नगर मोक्षधाम जायेगी शोकाकुल : दामोदर दास पाटोदिया (पति) मदनलाल (भतीजा) उमेश, विकास (पौत्र) एवं समस्त पाटोदिया परिवार, शिवाड वाले

अत्यन्त दु:ख के साथ सूचित किया जाता है कि हमारे पूज्यनीय पिताजी श्रीश्रीराम गुप्ता कानिधन:17.10.2017 को हो गया है। जिनकी शोक सभा 22.10.2017 को सांय 4 से 5 बजे पिंकसिटी मैरिज गार्डन, आगरा रोड, जयपुर पर रखी है। शाेकाकुल- धापा देवी(धर्मप|ि), लक्ष्मीनारायण, शिम्भूदयाल, खेमराज, मुकेश अग्रवाल (पुत्र),पंकज, संजय, केके(CA), प्रदीप, गौरव, मयंक(पौत्र), वंश(प्रपौत्र) फर्म:- राज स्टील्स, रामा सैनेट्री, राज इलैक्ट्रीकल्स, रामाबुक डिपो। मो.9314407010, 9414200137

अत्यन्त दु:ख के साथ सुचित किया जाता है कि हमारे पूजनीय ठा.सा.श्री विक्रम सिंह जी शेखावत सुपुत्रस्व. श्री मदन सिंह जी शेखावत का स्वर्गवास दिनांक 19.10.2017 को हो गया है। हरि कीर्तन दिनांक 29.10. 2017 द्वादशा, पाग दस्तूर दिनांक 30.10.2017 का है। शोकाकुल- ठा.सा. पन्ने सिंह, भीम सिंह, शंकर सिंह, हनुमत सिंह, नरपत सिंह, शिवराज सिंह, श्योपाल सिंह, किशन सिंह (भ्राता), दीपेन्द्र सिंह (पुत्र), अतुल सिंह, जितेन्द्र सिंह, महेन्द्र सिंह, अचल सिंह, नरेन्द्र सिंह (भतीजे), निकूम्भ सिंह (पौत्र) एवं समस्त शेखावत परिवार हवेेली बुर्जहाला कोटड़ी मानपुरा माचैडी, जिला जयपुर (राज.) 09828561947

हमारे पूजनीय श्रीभरतलाल दुग्गल कास्वर्गवास 10.10.2017 को हो गया। तेरहवां 22.10.2017 (रविवार) को अखण्ड पाठ भोग प्रसाद, शीशी पूजन तथा पगड़ी रस्म सांय 3 बजे होगी। शोकाकुल : श्रीमती लीलाराणी (प|ी), प्रकाश दुग्गल- गुलशन, गुलशन दुग्गल- किरण, राजेश दुग्गल- उषा, कैलाश दुग्गल- अंजना, वनिता (भ्राता- भ्राताप|ी), नीलमराणी, नरगीस- कुलदीप, किरण (बहन- बहनोई), नरेश- हेमा, कमलेश- सोनिया, सुरेश (पुत्र- पुत्रवधु), वर्षा- नरेश, सीमा- नरेश (पुत्री- दामाद), साहिल, अक्षय, मोहित, महिमा, प्रशंसा (पौत्र- पौत्री) समस्त दुग्गल परिवार कांवट। 8107316611, 8441939700.

हमारे पूजनीय दादाजी श्री नरेन्द्र देव शुक्ला (सेवानिवृत्त उपजिलाधीश, जयपुर) का आकस्मिक निधन दिनांक 21.10.2017 को हो गया है। शवयात्रा सुबह 11:15 बजे हमारे निवास स्थान से चांदपोल मोक्षद्वार जाएगी। शोकाकुल : सरोजनी देवी (प|ी), अशोक, अरुण, विनोद कुमार शुक्ला (पुत्र), ओमप्रकाश, राजकुमार (भतीजे), नीरज, नवनीत, आनन्द, मनु, आशीष, शुभम, शिवम (पौत्र), जितेन्द्र तिवारी-मंजू (दामाद-पुत्री), कपिल दीक्षित-रुचि, राजेश तिवारी-कंचन (पौत्री दामाद-पौत्री) एवं समस्त शुक्ला परिवार। मो. : 9829394664.

==============================================================

Anil Gupta
Very sad to hear the news of demise of your loving dad. May God rest his soul in peace and provide you and family the strength to bear this irreparable loss. Heartfelt Condolences.
· 4w
Mona Bedi
Our heartfelt condolences to all of you ! May his soul rests in peace🙏🏻🙏🏻
· 4w
DrRituVishal Gupta
Heartfelt Condolences 🙏🏼 May God grant peace to the departed soul and strength to the family to bear this irreparable loss..
· 4w
Deepika Ghai Goel
Irreparable loss…may his soul rest in peace🙏
· 4w
Amit Gupta
God gave peace to departed soul and strength to all family members to bear this great lose
· 4w
Upasana Handa
Condolences to u and ur family
· 4w

rasam pagri matter in english
rasam pagri format
rasam pagri quotes
rasam pagri matter in english for whatsapp
rasam pagri pravachan
speech on rasam pagri in hindi
rasam pagri meaning
rasam pagri meaning in hindi

rasam pagri matter in english
rasam pagri format
rasam pagri quotes
rasam pagri matter in english for whatsapp
rasam pagri pravachan
speech on rasam pagri in hindi
rasam pagri meaning
rasam pagri meaning in hindi